- Advertisement -

राजस्थान उड़ान योजना: एक करोड़ से भी अधिक महिलाओं को हर महीने मिलेंगे फ्री सेनेटरी पैड

- Advertisement -
- Advertisement -
Whatsapp Group
Whatsapp Channel
Telegram channel
- Advertisement -

राजस्थान सरकार ने महिलाओं की हेल्थ सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए एक नई योजना शुरू की है जिसके तहत 18 से 40 साल की ग्रामीण महिलाओं को हर महीने सरकार की तरफ से राजस्थान उड़ान योजना के तहत फ्री 12 सेनेटरी पैड उपलब्ध करवाए जाएंगे| महिलाएं यह सैनिटरी नैपकिन अपनी इलाके के किसी भी आंगनवाड़ी से जाकर प्राप्त कर सकती है| इसके साथ ही प्रत्येक सरकारी स्कूल और सरकारी महाविद्यालय में भी हर महीने छात्रों को फ्री सेनेटरी नैपकिन उपलब्ध करवाए जाएंगे|rajsthan uddan yojna

भारत के अधिकांश जनता गांव में निवास करती है| अधिकांश महिलाएं पढ़ी-लिखी नहीं होने के कारण कथा सेनेटरी पैड के महंगे होने के कारण बहुत सारी महिलाएं बाजार में मिलने वाले महंगे महंगे सेनेटरी नैपकिन नहीं खरीद पाते जिसके कारण अधिकांश महिलाएं महिलाओं को होने वाले बीमारी की शिकार हो जाती है| महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सरकार ने राजस्थान उड़ान योजना तैयार की है जिसे 3 चरणों में पूर्ण किया जाएगा

Udaan Free Sanitary Napkins Scheme: 

- Advertisement -

योजना के प्रथम चरण में देश के के उच्च प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक राजकीय विद्यालयों , महाविद्यालय में पढ़ने वाली कक्षा छह से बारहवीं की लगभग 26 लाख छात्राओं को फ्री सेनेटरी नैपकिन दिया जाएगा.| राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार 18-45 आयु वर्ग की किशोरियों और महिलाओं को शामिल करते हुए लगभग तीन लाख लाभार्थियों को प्रतिमाह 12 सेनेटरी नैपकिन का निःशुल्क वितरण करती है.

द्वितीय चरण में प्रदेश की सभी आंगनबाड़ियों का रोल
योजना के द्वितीय चरण में प्रदेश की सभी आंगनबाड़ियों में लगभग एक करोड़ किशोरियों और महिलाओं को सेनेटरी नैपकिन का निःशुल्क वितरण समस्त राजकीय शिक्षण संस्थानों में किया जाएगा. इस जागरूकता अभियान माहवारी स्वच्छता व प्रबंधन से संबंधित सभी प्रकार के परामर्श के लिए किशोरी बालिकाएं और महिलाएं निकटवर्ती आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, साथिन, आशा सहयोगिनी से सम्पर्क कर सकते हैं और विभागीय वेबसाइट www.wcd.rajasthan.gov.in पर सम्पर्क किया जा सकता है.

ग्रामीण क्षेत्रों में 282 ब्लॉक के 1410 चिन्हित आंगनबाड़ी केन्द्रों पर 18-45 आयु वर्ग की किशोरियों और महिलाओं को शामिल करते हुए लगभग तीन लाख लाभार्थियों को प्रतिमाह 12 सेनेटरी नैपकिन का निःशुल्क वितरण किया जाएगा. इस प्रकार लगभग कुल 29 लाख लाभार्थियों को प्रतिमाह नि:शुल्क सेनेटरी नैपकिन का वितरण किया गया है. 

माहवारी प्रबंधन के उत्पाद
यह शरीर की स्वाभाविक प्रक्रिया है. प्राय: लड़कियों में माहवारी 10-15 वर्ष की आयु के बीच शुरु हो जाती है. यह लड़की, महिला को हर माह 4-5 दिन तक होती है. यह प्रक्रिया गर्भधारण के लिए लड़की को तैयार करती है. पूर्ण माहवारी चक्र प्राय: 28 दिन का होता है, लेकिन उससे कम या ज्यादा भी हो सकता है. वहीं बहुत रक्त स्त्राव सोख सकता है और लंबे समय (5-6 घण्टे) के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. एक ही बार इस्तेमाल करके फेंकना होता है. इसे सावधानी से कागज में लपेटकर केवल कूड़ेदान में ही फेंके. इसे पानी के साथ न बहाएं, खुले में न डालें. माहवारी के दौरान इस्तेमाल किए जाने वाले सेनेटरी नैपकिन को कहां से प्राप्त किया जा सकता है? 

- Advertisement -


- Advertisement -
Whatsapp Group
Whatsapp Channel
Telegram channel

Related post

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles